हैलो दोस्तो, मेरा नाम सुरेश है मैं ग्वालियर का रहने वाला हूँ और मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ।
मेरा रंग हल्का सांवला है, मेरी उम्र 23 वर्ष है। ऊँचाई 5′ 7″ है, भरा-पूरा बदन है और लंड 6 इन्च का है। अभी तक मैं अविवाहित हूँ इसलिए मेरे दिमाग में एक ही चीज रहती है और वो है चुदाई।

ये बात आज से 6 महीने पहले की है।

एक लड़की मेरी मित्र थी, जिसका नाम कविता था। वो लड़की अभी कॉलेज में पढ़ती है और मेरी उससे दोस्ती मेरी एक रिश्तेदार की बेटी की वजह से हुई जिससे कि मेरी अच्छी तरह पटती थी। वो एक छोटे कद की लड़की थी, उसकी लम्बाई कोई 5 फुट थी और उसका फिगर कोई 30-26-32 होगा। वो दिखने में ठीक तो थी, पर उसके दांत थोड़े से ख़राब थे।

हम अक्सर मिला करते थे, कभी होटल में कभी चाय की दुकान पर या कभी कभी कोचिंग पर मिला करते थे।

एक बार फ़ोन करके उसने मुझे अपने घर बुलाया जो कि एक चौराहे के पास पड़ता था। छोटा सा घर था, उसके मम्मी पापा कुछ काम से बाहर गए हुए थे। चूंकि मैंने सारा शहर देखा हुआ था तो मुझे उसका घर ढूँढने में ज्यादा दिक्कत नहीं आई।

जैसे ही मैं उसके घर पहुँचा तो उसने दरवाजा खोला और मुस्कुरा कर मेरा स्वागत किया। वो उस दिन जीन्स और टी-शर्ट पहने हुई थी। सफ़ेद रंग की टी-शर्ट और गहरे नीले रंग की जीन्स जो कि एकदम शरीर से चिपकी हुई थी। इस तरह के कपड़ों में कविता क़यामत ढा रही थी। हालाँकि देखने में वो ज्यादा अच्छी नहीं थी पर वो फिर भी ठीक लग रही थी।

खैर… मुझसे बैठने के लिए बोलने के बाद वो मेरे लिए पानी लाई और चाय बनाने की कहकर चली गई और मैंने पानी पीने के बाद उसके घर को देख रहा था लेकिन वो मुझे ज्यादा अच्छा नहीं लगा क्योंकि वो किराये के मकान में रहती है। इतनी देर में वो मेरे लिए चाय और नाश्ता लाई और हम दोनों ने चाय पीने के दौरान कुछ इधर-उधर की बातें की और चाय खत्म होने के बाद वो मुझे फ्रेश होने की बोलकर चली गई।

जब वो चली गई तो मैंने भी पास में रखे उसके कंप्यूटर को चालू किया और उसमे कुछ फाइलें ढूँढने लग गया और इत्तफाक से मुझे उसके कंप्यूटर में एक ब्लू-फिल्म मिल गई, जो कि मैंने चालू कर दी और मैं देखने में इतना मग्न हो गया कि मुझे पता ही नहीं चला कि कविता कब मेरे पीछे आकर खड़ी हो गई और वो भी मूवी को दखने लग गई।

वो देखते ही देखते अपने 32 साइज़ के मम्मे दबाने लग गई और उसके मुँह से कामुक आवाज निकलने लगीं। जब मैंने ‘सिसिसिसीईइ’ की आवाज सुनी और पीछे मुड़कर देखा तो कविता मेरे पीछे एक गाउन में खड़ी थी, जो कि बिल्कुल पारदर्शी था। जिसमें से उसकी ब्रा और पैन्टी साफ़ दिखाई दे रहे थे और मेरे मुड़ते ही उसने अपने होंठ मेरे होंठों से लगा दिए और हम दोनों की साँसें तेज़ हो गईं।

करीब 5 मिनट तक चुम्बन करने के बाद वो मुझे अपने पापा-मम्मी के कमरे में ले गई और मुझे बिस्तर पर लिटा कर वो खुद मेरे ऊपर लेट गई और मुझे ताबड़तोड़ चूमने लगी और फिर मैंने भी उसे बेहताशा चुम्बन किए और उसके गाउन के ऊपर से ही उसके मम्मे दबाने लगा। वो और गर्म होती जा रही थी और उसकी गर्म-गर्म साँसों से मेरा लण्ड भी खड़ा होकर 6” का हो गया था।

फिर मैं थोडा संभला और उसका गाउन उतारा तो देखा कि वो सुर्ख लाल रंग की ब्रा और पैन्टी पहने हुए थी और उसके मम्मे कबूतरों की मानिंद उसकी ब्रा में फड़फड़ा रहे थे।

मैंने जैसे ही उसकी ब्रा को खोला किया तो उसके दोनों मम्मे आज़ाद पंछी की तरह उड़ कर मेरे हाथों में आ गए। मैं उन्हें देखकर एक बच्चे की तरह चूसने लगा। बारी-बारी से कभी एक को चूसता तो एक को मसलता।

ये क्रम लगभग 5 मिनट चला और उसके बाद उसके पूरे बदन को चूसने के बाद मेरा मुँह उसके पैन्टी पर आकर रूक गया और एक ही झटके में मैंने उसकी पैन्टी उसकी टांगों से अलग कर दी।

मैंने देखा कि उसकी चूत बिल्कुल सफाचट है और जैसे ही मैंने उसकी चूत के होंठों पर अपना मुँह रखा तो उसके मुँह से एक ‘सिसकारी’ निकल गई और ‘आआआऔऊऊउईईईई’ की आवाजें निकलने लगीं।

वह मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगी और कुछ बड़बड़ाने लगी ‘प्लीज़ मत..करो..र..र..उई..रे… र..र..!’

पर मैं तो अपनी मस्ती में उसकी चूत चाटने में लगा हुआ था। कुछ देर के बाद वो मेरे मुँह में ही झड़ गई और मैं अपने मुँह में वो रस लेकर उसके मुँह के पास गया और वो रस उसके मुँह में डाल दिया और वो उस रस को मस्ती में पी गई।

अब उसकी बारी थी सो मैंने उससे कहा- मेरा लंड चूस..!

तो पहले तो मना करने लगी, पर मेरे ज्यादा कहने पर उसने मेरा 6″ का लौड़ा हाथ में लेकर आगे-पीछे करने लगी और उसके बाद वो उसे मुँह में लेकर उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी। उसने मेरे लंड की इतनी चुसाई की कि मेरा सारा माल निकाल दिया और अपने मुँह में लेकर सारा का सारा माल पी गई, उसने एक बूंद भी नहीं टपकने दी।

मेरा माल निकलने के बाद में मैं लेट गया और उससे चिपक गया। थोड़ी देर बाद फिर से मेरा लंड खड़ा होना शुरू हो गया और इस बार मैंने सीधे उसकी चूत के मुँह पर ही अपना लंड रखा और एक हल्का सा झटका दिया जिससे कि मेरा लंड अन्दर नहीं जा पाया और बाहर निकल गया।

फिर कविता ने मेरे लंड को अपनी चूत के मुँह पर रखा और इस बार वो बोली- अब जोर लगा..!

तो फिर मैंने एक जोरदार झटका दिया जिससे कि मेरा लगभग आधा लंड उसकी चूत में चला गया और वो चिल्लाई- उई माँ… मर गई!

उसे दर्द होने की वजह से मैं थोड़ी देर रुक गया जब वो खुद कूल्हे उठा कर मेरा साथ देने लगी तो मैंने एक और झटका दिया, जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया।

अब जोरों से चुदाई चालू हो गई और यह पारी हमने कम से कम 20 मिनट की खेली और आखिरी में हम दोनों एक साथ झड़ गए और हम दोनों का रस मिल कर कविता की चूत से बाहर निकलने लगा। चुदाई का यह खेल खेलने के बाद हम बहुत थक चुके थे, तो हम एक-दूसरे के पास निढाल होकर गिर गए और जब हमारी आँख खुली तो देखा कि शाम के पांच बज चुके हैं।

हम उठे, फिर कविता ने अपना बिस्तर की चादर साफ़ की।

इसके बाद तो जैसे यह सिलसिला ही बन गया था। हम तक जब भी मौका मिलता तो उस पर चौका ज़रूर लगाते। फिर कुछ दिन बाद कविता ने मुझे उसकी एक और सहेली से मिलवाया जिसका नाम कि ज्योत्सना है। मेरी और ज्योत्सना की चुदाई कहानी बाद में फिर कभी लिखूँगा, पहले आप यह बताओ कि आपको यह कहानी कैसी लगी, यह एक सच्ची घटना है।

आपके जवाब का इंतजार।

loading...

Write A Comment


Online porn video at mobile phone


मम्मी साथ रात सैकसjyoti aunty ki gand lambi sex storyमैंने माँ को और दादी को छुड़ाxxx hot sex kutte se boor chodavayapapa ki dar se mummy ki cudai huwaबहन।की।चुदबाईकॉल बॉय सेक्स स्टोरीजहिन्दीसेकसीसटोरी रिस्ता मेचुत चुदाई का नशा वीडियोचेतन का लड कि फोटोdesi mami awr bhanja ki hindi porn khanipuchane wali xxx video fesichachi xxx khaniधर मे चोदाxxx kahane hinde ma resto me१८ साल की सावली कुआरी लड़की से सेक्स mammy ko adal badal kar chudi kibhabhi dede chachi mosee ki chudai ki kahaniyaschool bus me jbrdsti sex ki kahanikamukta ki nangiphoto.comबच्चे के लिए चुड़ैदिलली।रंडी।वुर।जुदाई।हिनदी।मेcccccc toh ekdum Khatarnak Khatarnak Dikhaye jaldi seCAHCCE.CACA.KI.CUDAE.COXXXdhoti blouse petticoat wali Hindi BF xxxXXXSTORYKHANIMY BHABHI .COM hidi sexkhaneसेकसी डीयो हिदी बुरurde sex story urde font ma batapahli chudai kahanidesicudaikahaniyaraat me galt chudai kahanishadi m chudai hi chudaमाँ की चुत मे लंड डाला बेटी ने देखा बहन ने भाई लंड गाडं मे लंड लिया xxx चुप के काहानीशराब पिलाकर माँ की चुदाय की.comwb x bhabhi hothoxxx.apane.paltu.kutiya.ko.chda.hindi.kahaniholi me chudae hinadi kahaniya camporn with khala storyAnterwasna me chod ke rakhel banayaNew story sote hue bajijabardasti chudai ki kahani hindi meantarvasna janvar sxxxx kahaniya hindi me collegeआंटी केला स्टोरीwwwsax.khaniland pati xxx kahanisex papa ladke kahanexxx sex rongo rangolimami bhacha ka xxx photokamukta archives2018 ki new hindi sax kahani anti ki with photoचुत की चुदाई बहन मा कीsexy kahaniya photo ke sathvideshi aurat ki bibi ke samane chudai storyचोदाई.कूतते.से.अनटि.किvidhwa maa ki chudai behan ke samneमॉडर्न नंगी अन्त्य की चुत देखने और चुड़ै के कहानी हिंदी मेंxxx chudai ki khaniभवि के बूर छोडिएhinde xxx khine bhu hot sex black sexy anty ko gram kr ke choda hindi story hindi mअम्मी ने गाड मरवैxxx hindi anita kahanimajbori me cut cudai kahani hindi meantarvasna papa bete ne maa ko choda xxx sex hindi shayariईगलिस देशी समाज callaj garl xxxdede baiya ki sexe cudai hindi sexe kahaniyaदलि चि चुदाईdesi sex kahaniaESKUL MEDAM MERI MAA BATRUM XXX HINDI KAHANIदेवर भाभी की सेक्सी लाजवाब गर्म कहानियाँपड़ोसी की बुआ को चोदा सेक्स जवानी थी 12 साल की वीडियोsexkahaniइंडियन हिंदी सेक्स मूव्हीजइमेज भाभा की नगीदो दस के लंड माँ के चुत मे चुदाईaunty ne muje rula deni wali xxx story hindi antrvasna.hindi.xxxx.khani.hindi.meantarvasna vidhvaगुलाम की बेटी की चुदाईगदि कहानियाgirls kamleela hindi storyमाँ की चूदाई हिन्दी नानवैज स्टोरीapni mami ki cjoot ka bhosda bana doअंतर्वासना वोइडोburkichudaikahaniएक साथ कैई से चुदवानासभी औरतौ की चुदाई जवान लंडमौसी की गांड मारी जब मौसा घर नही थाhindi fukingstorekamukta.com anoki kahanimosi ki ladki ne chodwa liya sxxs kahnimonna bhabi ko do larko ne choda sex kahaniबीवी की बुर में छोडोलंड की प्यारी सास xxx compadosan ki bur ka ras chatkar chut saf kiक्सनक्सक्स हिंदी कहानिया रोसेथो